Home Krishna Bhajan कृष्ण गोविंद गोपाल गाते चलो – Krishna Govind Gopal Gate Chalo Lyrics

कृष्ण गोविंद गोपाल गाते चलो – Krishna Govind Gopal Gate Chalo Lyrics

721
4

Krishna Govind Gopal Gate Chalo Lyrics नमस्कार मित्रों आप सभी का स्वागत है एक बार फिर से आपकी अपनी वेबसाइट पर आज मैं आप सभी को बताने वाला हूं “कृष्ण गोविंद गोपाल गाते चलो लिरिक्स” के बारे में तो अगर आप सभी को अच्छा लगे तो जरुर इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे |

कृष्ण गोविंद गोपाल गाते चलो - Krishna Govind Gopal Gate Chalo Lyrics
कृष्ण गोविंद गोपाल गाते चलो

Krishna Govind Gopal Gate Chalo Lyrics

कृष्ण गोविंद गोपाल गाते चलो,
अपने मुक्ति का मार्ग बनाते चलो ||


१. काम करते रहो नाम जपते रहो,
पाप करने से हरदम तुम डरते रहो,
रामधन का खजाना बढ़ाते चलो ||

कृष्ण गोविंद गोपाल गाते चलो,
अपने मुक्ति का मार्ग बनाते चलो ||


२. लोग कहते हैं भगवान आते नहीं,
द्रोपति की तरह तुम बुलाते नहीं,
टेर गज की तरह से सुनाते चलो ||

कृष्ण गोविंद गोपाल गाते चलो,
अपने मुक्ति का मार्ग बनाते चलो ||


३. लोग कहते भगवान खाते नहीं,
शबरी की तरह तुम खिलाते नहीं,
साग विदुर के जैसे खिलाते चलो ||

कृष्ण गोविंद गोपाल गाते चलो,
अपने मुक्ति का मार्ग बनाते चलो ||


४. सुख में भुला नहीं दुख में रोना नहीं,
अपने दिल से प्रभु को बिसारो नहीं,
मायाजाल ओ को दिल से हटाते चलो ||

कृष्ण गोविंद गोपाल गाते चलो,
अपने मुक्ति का मार्ग बनाते चलो ||


५. दया आएगी उनको कभी ना कभी,
दास पाएगा दर्शन कभी ना कभी,
यही विश्वास अपने दिल में समाते चलो ||

कृष्ण गोविंद गोपाल गाते चलो,
अपने मुक्ति का मार्ग बनाते चलो ||


६. सभी आए अनाथों का तू नाथ है,
अपने भक्तों के रहता तू पास है,
मन को विषय के विष से हटाते चलो ||

कृष्ण गोविंद गोपाल गाते चलो,
अपने मुक्ति का मार्ग बनाते चलो ||

Read Also

कलयुग में एक बार कन्हैया लिरिक्स – Kalyug Me Ek Baar Kanhaiya Lyrics

जब प्राण तन से निकले लिरिक्स – Jab Pran Tan Se Nikle Lyrics

About The Post

दोस्तों आज मैंने आप सभी को इस पोस्ट के माध्यम से “Krishna Govind Gopal Gate Chalo Lyrics” के बारे में बताया है तो अगर आप सभी को ये अच्छी लगी हो तो जरुर इसे अपने दोस्तों कई साथ शेयर करे धन्यवाद |

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here