Home Shree Ram Bhajan Kabhi Kabhi Bhagwan Ko Bhi Bhakto Se Kaam Pade Lyrics

Kabhi Kabhi Bhagwan Ko Bhi Bhakto Se Kaam Pade Lyrics

1014
4

Kabhi Kabhi Bhagwan Ko Bhi Bhakto Se Kaam Pade Lyrics नमस्कार मित्रों आप सभी का स्वागत है एक बार फिर से आपकी अपनी वेबसाइट पर आज मैं आप सभी को बताने वाला हूं ” कभी कभी भगवान को भी भक्तों से काम पड़े लिरिक्स ” के बारे में तो अगर आप सभी को अच्छा लगे तो जरुर इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे |

Kabhi Kabhi Bhagwan Ko Bhi Bhakto Se Kaam Pade Lyrics
कभी कभी भगवान को भी भक्तों से काम पड़े लिरिक्स

Kabhi Kabhi Bhagwan Ko Bhi Bhakto Se Kaam Pade Lyrics

कभी कभी भगवान को भी भक्तों से काम पड़े,
जाना था गंगा पार प्रभु केवट की नाव चढ़े – २


१. अवध छोड प्रभु वन को धाए,
सिया राम लखन गंगातट आए,
केवट मन ही मन हर साए,
घर बैठे प्रभु दर्शन पाए,
हाथ जोड़कर प्रभु के आगे केवट मगन खड़े ||

कभी कभी भगवान को भी भक्तों से काम पड़े,
जाना था गंगा पार प्रभु केवट की नाव चढ़े – २


२. प्रभु बोले तुम नाव चलाओ,
पार हमें केवट पहुंचाओ,
केवट कहता सुनो हमारी,
चरण धूल की माया भारी,
मैं गरीब नया मेरी नारी न होय पड़े ||

कभी कभी भगवान को भी भक्तों से काम पड़े,
जाना था गंगा पार प्रभु केवट की नाव चढ़े – २


३. केवट दौड़ के जल भर लाया,
चरण धोए चरणामृत पाया,
वेद ग्रंथ जिनके यश गाय,
केवट उनको नाव चढ़ाएं,
बरसे फूल गगन से ऐसे भक्ति के भाव बढ़े ||

कभी कभी भगवान को भी भक्तों से काम पड़े,
जाना था गंगा पार प्रभु केवट की नाव चढ़े – २


४. चली नाव गंगा की धारा,
सिया राम लखन को पार उतारा,
प्रभु देने लगे नाव उतराई,
केवट कहे नहीं रघुराई,
पार किया मैंने तुमको अब तू मोहे करें ||

कभी कभी भगवान को भी भक्तों से काम पड़े,
जाना था गंगा पार प्रभु केवट की नाव चढ़े – २

Also Read

मारे राम लखन घर आया लिरिक्स – Mare Ram Lakhan Ghar Aaya Lyrics

भोलेनाथ चले आओ लिरिक्स – Bholenath Chale Aao Lyrics

About The Post

दोस्तों आज मैंने आप सभी को इस पोस्ट के माध्यम से “Kabhi Kabhi Bhagwan Ko Bhi Bhakto Se Kaam Pade Lyrics” के बारे में बताया है तो अगर आप सभी को ये अच्छी लगी हो तो जरुर इसे अपने दोस्तों कई साथ शेयर करे धन्यवाद |

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here